सरकारी स्कूलों में पढ़ाई चौपट आंदोलन की जरूरत : मांझी

पटना : कुल मिला कर राज्य के सरकारी विद्यालयों में पढ़ाई चौपट है. ऐसे में मौजूदा शिक्षा व्यवस्था में आमूल-चूल व क्रांतिकारी परिवर्तन की जरूरत है. इसके लिए आंदोलन होना चाहिए. यह बात राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कही.
वह गुरुवार को एलटीसी घाट, मैनपुरा स्थित बीवीएचए सभागार में सबके लिए भयमुक्त एवं सुरक्षित शिक्षा विषयक एकदिवसीय सम्मेलन के उदघाटन सत्र को मुख्य अतिथि के  रूप में संबोधित कर रहे थे.
वोलंटरी फोरम फॉर एजुकेशन, वोलंटरी फोरम फॉर एजुकेशन, राष्ट्रीय आरटीइ फोरम नयी दिल्ली, साउथ एशियन रीजनल फोरम फॉर सेफ एंड सिक्योर एजुकेशन तथा दलित विकास अभियान समिति के संयुक्त तत्वावधान में यह आयोजन किया गया. प्रो डेजी नारायण ने स्वागत भाषण किया.
सम्मेलन में आरटीइ फोरम के राष्ट्रीय संयोजक अंबरीश राय, एससी आयोग के पूर्व अध्यक्ष विद्यानंद विकल, पद्मश्री सिस्टर सुधा वर्गीज, प्रो विनय कंठ, अंजता तनेजा समेत शिक्षक संघ के सदस्य, शिक्षाविद व अन्य ने अपने विचार रखे. सम्मेलन विभिन्न सत्र में संपन्न हुआ, जिसमें भयमुक्त एवं सुरक्षित माहौल में शिक्षा के लिए ११ सूत्री मांगों पर चर्चा की गयी. इसमें पटना समेत राज्य के छह 6 जिलों से आये एसएमसी फेडरेशन सदस्य शामिल हुए. संचालन डीवीएएस के निदेशक धर्मेंद्र कुमार व धन्यवाद ज्ञापन केयर इंडया की सीमा राजपूत ने किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.