चोरी के शक में दलित की पीट-पीटकर हत्या

शनिवार सुबह कुछ लोगों ने सुरजी को गंभीर हालत में स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया जहां उसकी मौत हो गई।

लखीमपुर खीरी. आंबेडकर जयंती पर जब देश के सभी दलों में दलितों का हितैषी बनने की होड़ मची थी, ठीक उसी दिन लखीमपुर खीरी में एक दलित की पिटाई से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि बरोठा गांव का रहने वाला सुरजी उर्फ़ लेखपाल शुक्रवार की शाम अपनी बेटी को लेने लखाही गांव जा रहा था। इस दौरान शाम को वह रास्ता भटक कर सुक्खनपुरवा गांव पहुंच गया। यहां उसे उच्च जाति के लोगों ने चोरी के शक में पकड़ लिया और बंधक बनाकर रातभर जमकर पिटाई की। बताया जा रहा है कि सुरजी को रात भर पेड़ से बांधकर रखा गया और उसकी पिटाई की गई।

अस्पताल में हुई मौत

शनिवार सुबह कुछ लोगों ने सुरजी को गंभीर हालत में स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया जहां उसकी मौत हो गई। निघासन सर्किल के सीओ सविरतन गौतम के मुताबिक इस मामले में छह नामजद और कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। प्रथम दृष्टया लग रहा है कि अंदरूनी चोटों के कारण मौत हुई है। मृतक के परिजनों और कुछ प्रत्यक्षदर्शियों के बयान दर्ज किये गए हैं। मामले में अन्य साक्ष्य एकत्र किये जा रहे हैं, जिनके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस ने शुरू की मामले की जाँच

इस मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के बाद पूछताछ के लिए कई लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस की अब तक की पड़ताल में सामने आया है कि मृतक का किसी तरह का कोई आपराधिक इतिहास नहीं है। पुलिस अफसर दावा कर रहे हैं कि मामले की जांच को जल्द ही निष्कर्ष तक पहुंचाकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.